Political Science Sample Paper 2022 Class 12 in Hindi Medium term 2

नमश्कार, आपका बहुत बहुत स्वागत है मेरी वेबसाइट,
इस पोस्ट में आप देखोगे Political Science Sample Paper 2022 Class 12 in Hindi Medium term 2

यानी कि कक्षा 12 के राजनीतिक विज्ञान के सैंपल पेपर और उसका पीडीएफ, जो 2021 से 2022 के टर्म 2 का है, वो भी हिंदी मध्यम के विद्यार्थियों के लिए।
आपको इसके पीडीएफ को देखने के लिए या डाउनलोड के लिए नीचे दिए बटन जिसपर Political science set-1 लिखा है उस पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपको 15 सेकण्ड्स तक इंतेज़ार करना होगा और जैसे ही टाइमर पूरा होगा तभी आपके सामने हरा बटन प्रकट होगा जिस पर Now you can download set-1 लिखा होगा, जिसे दबाते ही आपके सामने google drive का एक पेज खुल जाएगा जहां आपको वह पीडीएफ मिल जाएगा।
मुमकिन हैं कि आपको गूगल ड्राइव में जाने के लिए कोई ई-मेल एकाउंट से लोग इन करना पड़े लेकिन अगर आप अपने ई-मेल एकाउंट से लोग इन नहीं करना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट को इंकॉग्निटो टैब में खोल सकते हैं तब आपको किसी भी ई-मेल एकाउंट से लोग इन नहीं करना पड़ेगा।

Details of the PDF

  • Class: 12
  • Subject: Political science
  • Medium: Hindi
  • Term: 2
  • Set: 1
  • Solved: Yes
  • Year: 2021-2022
  • Board: CBSE
  • Format: PDF

🎊By the way if you want to download📩 the Sample papers🗞️ of all Subjects📚 in one page📄 easily😎
🎉So you can visit the link below⬇️
cbse sample paper 2021 class 12 in hindi medium

Political Science Set-1 Sample Paper

यहां आप देखोगे political science sample paper 2022 class 12 in hindi medium term 2 set 1 के Question Answers और PDF

प्रश्न 1: आसियान क्षेत्रीय मंच की स्थापना किस वर्ष की गयी थी ? इसकी स्थापना का क्‍या
उद्देश्य था ?

उत्तर : आसियान क्षेत्रीय मंच की स्थापना 1994 में की गयी थी. इसका उद्देश्य आसियान
के सदस्य देशों की सुरक्षा व विदेश नीतियों में तालमेल बनाना था.

अथवा

प्रश्न : आज की चीनी अर्थव्यवस्था नियंत्रित अर्थव्यवस्था से किस तरह अलग है ?

उत्तर : 1972 में चीन ने आर्थिक एकांतवास को समाप्त किया। आज चीन का उद्देश्य
विदेश पूँजी और प्रदयोगिकी के निवेश से उच्चतर उत्पादकता को प्राप्त करना है।

प्रश्न 2: गठबंधन सरकारों के उदय के कोई दो कारण लिखिए।

उत्तर :

  • राष्ट्रीय राजनीतिक दलों का कमजोर होना।
  • क्षेत्रीय राजनितिक दलों का प्रादुर्भाव व सरकारों के निर्माण में बढ़ती भूमिका।

प्रश्न 3: चुनाव आयोग को प्रारम्भ में किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा था ?

उत्तर :

  • स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव कराना।
  • चुनाव क्षेत्रों का सीमांकन करना।
  • मतदाता सूची बनाने में समस्याएं होना।
  • साक्षरता का निम्न स्तर होना।

प्रश्न 4: भारत और मालदीव के बीच किन क्षेत्रों में सहयोग है? लिखिए।

उत्तर : भारत में मालदीव के आर्थिक विकास, पर्यटन और मतस्य उद्योग में सहायता की है। भारत-मालदीव ने 2020 में चार समझोते किये हैं। खेल व युवा मामलों पर भी दोनों देशों में
सहयोग।

प्रश्न 5: मुंबई प्रतिरोध 2004 ने विश्व सामाजिक मंच का क्‍यों प्रतिरोध किया ?

उत्तर : अलोकतांत्रिक तौर-तरीकों तथा साम्राज्यवादी देशों और बड़े व्यापार के धन पर इसकी निर्भरता को उजागर करने के कारण।

प्रश्न 6: बामसेफ की स्थापना किस वर्ष हुई थी ? बामसेफ शब्द का विस्तार कीजिये।

उत्तर : बामसेफ की स्थापना 1978 में हुई थी। बामसेफ शब्द का विस्तार है Backward and Minority Communities Employees Federation.

प्रश्न 7: 1999 के सियटल में हुए विश्व व्यापार संगठन की मंत्रि स्तरीय बैठक का विरोध
किस आधार पर किया गया ?

उत्तर : 1999 के सियटल में हुए विश्व व्यापार संगठन की मंत्रि स्तरीय बैठक का विरोध का मुख्य कारण आर्थिक रूप से ताकतवर देशों द्वारा व्यापार के अनुचित तरीकों का विरोध करना था।

प्रश्न 8: आपके विचार में वैश्वीकरण विकासशील देशों के लिए किस प्रकार लाभप्रद रहा है ? तर्क सहित।

उत्तर :

  • विकास में अहम योगदान
  • प्रौद्योगिकी तक पहुंच में आसानी

प्रश्न 9: पार्टी के भीतर गठबंधन के भारतीय राजनीति में कुछ उदाहरण लिखिए ?

उत्तर :

  • प्रथम आम चुनाव के दौरान कांग्रेस पार्टी एक सामाजिक और विचारधारात्मक गठबंधन के रूप में दिखाई दी थी।
  • वर्तमान में भी विभिन्‍न पार्टियों के बीच आंतरिक गठबंधन दिखायी देता है जहाँ भारतीय लोकतंत्र के हित में अलग-अलग विचारधाराओं को मानने वाले दल आम सहमति के मुद्दों पर मिली जुली सरकार बनाते हैं। परन्तु अपनी नीतियां नहीं बदलते हैं।

प्रश्न 10: मंडल आयोग की सिफारिशों के लागू करने के क्या परिणाम हुए ?

उत्तर :

  • उत्तर भारत में हिंसक प्रदर्शन हुए। जिसमें छात्रों दवारा हड़ताल,धरना, प्रदर्शन, सरकारी संपत्ति के नुकसान आदि शामिल हैं।
  • बेरोजगार युवाओं व छात्रों द्वारा आत्महत्या की गयी थीं।
  • इसे समानता के सिद्धान्त के खिलाफ माना गया।

प्रश्न 11: दिये गए मानचित्र में ए, बी, सी और डी से चार देश दर्शाये गए हैं। दी गयी जानकारी के आधार पर इन देशों की पहचान कीजिए और अपनी उत्तरपुस्तिका में निम्नलिखित तालिका के रूप में लिखिए।

Sorry guys I can’t provide the map here because of copyright but you can see the map by visiting this link.

  1. 1987 में भारत ने जिस देश में शांति सेना भेजी।
  2. वह देश जो भारत की ‘पूरब चलो’ की नीति का हिस्सा है।
  3. दक्षिण एशिया का चारों तरफ से भूमि से घिरा देश।
  4. वह देश जिसकी पनबिजली की बड़ी योजनाओं में भारत का योगदान है।

उत्तर :

क्रम संख्यासंबंधित अक्षरदेश का नाम
1Cश्रीलंका
2Dबांग्लादेश
3Aनेपाल
4Bभूटान

प्रश्न 12: चीन की आर्थिक नीतियों के नकारात्मक प्रभावों की व्याख्या कीजिये ?

उत्तर :

  • चीन में बेरोजगारी में वृद्धि हुई है।
  • लगभग 10 करोड़ लोग रोजगार की तलाश में हैं।
  • महिलाओं के रोजगार और काम करने के हालात खराब हैं।
  • पर्यावरण को नुक्सान हुआ है।
  • भष्टाचार में वृद्धि हुई है।
  • अमीर और गरीब के बीच फासले में वृद्धि हुई है।

अथवा

प्रश्न : भारत में दक्षिणपंथी द्वारा वैश्वीकरण की आलोचना किन आधारों पर की जाती है ?
वर्णन कीजिये ?

उत्तर :

  • दक्षिणपंथी राजनितिक क्षेत्र में राज्य की भूमिका में वृद्धि करने का समर्थन करते हैं।
  • आर्थिक क्षेत्र में दक्षिणपंथी संरकक्षणवाद का समर्थन करते हैं। सांस्कृतिक क्षेत्र में दक्षिणपंथी अपनी संस्कृति की सुरक्षा का समर्थन करते हैं।

प्रश्न 13: आपातकाल को भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में एक काले अध्याय के रूप में क्‍यों
देखा जाता है ? विश्लेषण कीजिये।

उत्तर : आपातकाल को भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में एक काले अध्याय के रूप में देखे जाने के कारण निम्लिखित हैं:-

  • मौलिक अधिकारों का स्थगन किया गया।
  • प्रेस सेंसरशिप को लागू किया गया।
  • अभिव्यक्ति की स्वतन्त्रता पर रोक लगा दी गयी थी।
  • सरकार द्वारा नसबंदी कार्यक्रम चलाया गया था।
  • विपक्षी नेताओं की गिराफ्तारी की गयी थी।
  • पुलिस अधिकारियों व नौकरशाही द्वारा शक्तियों का दुरूपयोग किया गया था।

अथवा

प्रश्न : स्वतंत्रता के बाद से भारतीय राजनीति में दलीय व्यवस्था की कौन सी मुख्य प्रवरतियां दिखायी देती हैं ? अपने विचार व्यक्त कीजिये।

उत्तर :

  • स्वतन्त्रता के बाद प्रारम्भिक दशकों में परिस्तिथियो के वश एक पार्टी का शासन रहा।
  • आपातकाल के बाद दूसरी पार्टी के सत्ता में उभार हुआ।
  • 1989 से केंद्र में गठबंधन सरकारों का दौर प्रारम्भ हुआ।
  • 2014 से पुनः एक दल को बहुमत मिला लेकिन इन्होने भी गठबंधन सरकार बनायी। इसे एक अतिरिक्त बहुमत गठबंधन भी कहा गया। इस अर्थ में गठबंधन की राजनीति की प्रकृति में एक बड़ा परिवर्तन देखा गया जो एक दलीय नेतृत्वशील गठबंधन के स्थान पर एक दलीय प्रभुत्वशील गठबंधन के रूप में दृष्टिगत होता है।

Download the pdf of Political Science Sample paper

Political science set-1

Thank you 🤓

बहुत बहुत शुक्रिया मेरे इस पोस्ट को पढ़ने के लिए 🙏
और आपसे एक बिनती है कि आप मेरे इस पोस्ट हो सके तो share करें और comment box में अपनी राय लिखे इस पोस्ट के बारे में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *