कक्षा 12 भूगोल मॉडल पेपर 2022

नमश्कार, आपका बहुत बहुत स्वागत है मेरी वेबसाइट Darkrown में,
इस पोस्ट में आप देखोगे कक्षा 12 भूगोल मॉडल पेपर 2022

यानी class 12 geography sample paper 2021-22 with answers जो टर्म 2 का है, वो भी हिंदी मध्यम के विद्यार्थियों के लिए। आपको इसके पीडीएफ को देखने के लिए या डाउनलोड के लिए नीचे दिए लाल बटन जिस पर Geography set-1 लिखा है उस पर क्लिक कर सकते हैं।

Details of the Sample paper

इस पोस्ट में दिए सैंपल पेपर की डिटेल्स निम्नलिखित हैं।

Class12th12वी
SubjectGeographyभूगोल सैद्धांतिक
MediumHindiहिन्दी
Term22
SolvedYesहाँ
Year2021-222021-2022
BoardCBSEसीबीएसई
FormatPDFपीडीएफ

🎊By the way if you want to download📩 the Sample papers🗞️ of all Subjects📚 in one page📄 easily😎
🎉So you can visit the link below⬇️
cbse sample paper 2021 class 12 in hindi medium

Geography Sample Paper

यहां आप देखोगे भूगोल का सेम्पल पेपर कक्षा 12 के 2021-22 का और साथ में pdf download का option

निर्धारित समय: 2 घण्टे
अधिकतम अंक: 35

सामान्य निर्देश:

  • प्रश्न पत्र 5 खंडों ए, बी, सी, डी और ई में बांटा गया है।
  • खंड ए में प्रश्न संख्या 1 से 3 अति लघु उत्तरीय प्रकार के प्रश्न हैं।
  • कोई 3 प्रश्न हल करें।खंड बी में प्रश्न संख्या 4 स्रोत आधारित प्रश्न है।
  • खंड सी में प्रश्न संख्या 5 और 6 लघु उत्तर आधारित प्रश्न हैं |
  • खंड डी में प्रश्न संख्या 7 से 9 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न हैं।
  • खंड ई में प्रश्त संखया 10 एक मानचित्र आधारित प्रश्न है।

Section-A / खंड-ए

प्रश्न 1: किन्हीं दो उदाहरणों सहित उच्च प्रौद्योगिकी उद्योग की संकल्पना को स्पष्ट कीजिए।

उत्तर :

  • उच्च प्रौद्योगिकी उद्योग:- यह नवीन पीढ़ी के उद्योग हैं जिनमें उन्‍नत वैज्ञानिक एवं इंजीनियरिंग उत्पादों का निर्माण एवं विकास गहन शोध के बाद किया जाता है।
  • इन उद्योगों में यंत्र, मानव रोबोट, कंप्यूटर आधारित डिजाइन, तथा निर्माण इलेक्ट्रॉनिक नियंत्रण वाले शोध कार्य तथा नए रासायनिक व औषधीय उत्पादों का निर्माण होता है।

(कोई दो या कोई अन्य प्रासंगिक बिंदु)

प्रश्न 2: आधुनिक बड़े पैमाने पर होने वाले आधुनिक विनिर्माण की किन्हीं दो विशेषताओं को लिखिए

उत्तर :

  • कौशल या उत्पादन के तरीकों की विशेषज्ञता।
  • मशीनीकरण।
  • संगठनात्मक संरचना और स्तरीकरण।
  • असमान भौगोलिक वितरण।

(किन्हीं दो की व्याख्या करने के लिए)

अथवा

प्रश्न : ‘कच्चेमाल की प्राप्ति की अभिगम्यता’ किस प्रकार बड़े पैमाने के उद्योगों की अवस्थिति को प्रभावित करती है? किन्ही दो कारणों द्वारा स्पष्ट कीजिये।

उत्तर :

  • विनिर्मित वस्तुओं के लिए एक बाजार का अस्तित्व उद्योगों के स्थान का सबसे महत्वपूर्ण कारक है।
  • ‘बाजार’ का अर्थ है वे लोग जिनके पास इन सामानों की मांग है और जिनके पास एक स्थान पर विक्रेताओं से खरीदारी करने में सक्षम होने के लिए क्रय शक्ति (खरीदने की क्षमता) भी है।
  • कुछ लोगों द्वारा बसाए गए दूरस्थ क्षेत्र छोटे बाजार प्रदान करते हैं।
  • यूरोप, उत्तरी अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के विकसित क्षेत्र बड़े वैश्विक बाजार प्रदान करते हैं क्योंकि लोगों की क्रय शक्ति बहुत अधिक है।
  • दक्षिण और दक्षिण-पूर्व एशिया के घनी आबादी वाले क्षेत्र भी बड़े बाजार प्रदान करते हैं।

प्रश्न 3: छोटे पैमाने के उद्योग की किन्हीं तीन विशेषताओं पर प्रकाश डालें।

उत्तर :

छोटे पैमाने के उद्योगः-

  1. निर्माण स्थल: इस प्रकार के उद्योग मे निर्माण स्थल घर से बाहर होता है।
  2. कच्चा माल: इसमें स्थानीय कच्चे माल का उपयोग होता है।
  3. रोजगार के अवसर: रोजगार के अवसर इस उद्योग में अधिक होते हैं जिससे स्थानीय निवासियों की क्रय शक्ति बढ़ती है।

Section-B / खंड-बी

प्रश्न 4: दिए गए स्रोत को ध्यान से पढ़ें और नीचे दिए गए प्रश्नों के उत्तर दें।

बाह्यस्त्रोतन अथवा ठेका देना दक्षता को सुधारने और लागतों को घटाने के लिए किसी बाहरी अभिकरण को काम सौंपना है। जब बाह्यस्त्रोतन में कार्य समुद्रपार के स्थानों पर स्थानांतरित कर दिया जाता है तो इसको अपतरन (ऑफशोरिंग) कहा जाता है, यद्यपि दोनों अपतरन और बाह्यस्त्रोतन का प्रयोग इकट्ठा किया जाता है। जिन व्यापारिक क्रिया कलापों को बाह्यस्त्रोतन किया जाता है उनमें सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी), मानव संसाधन, ग्राहक सहायता और कॉल सेंटर सेवाएं और कई बार विनिर्माण तथा अभियांत्रिकी भी सम्मित्रित की जाती है।

आंकड़ा प्रक्रमण सूचना प्रोद्योगिकी से संबंधित सेवा है जिसे आसानी से एशियाई, पूर्वी यूरोपीय और अफ्रीकी देशों में क्रियान्वित किया जा सकता है, इन देशों में अच्छी अंग्रेजी भाषा कौशल वाले आईटी कुशल कर्मचारी विकसित देशों की तुलना में कम मजदूरी पर उपलब्ध हैं। अतः हैदराबाद या मनीला में स्थापित एक कंपनी अमेरिका या जापान जैसे देश के लिए जीआईएस तकनीकों पर आधारित परियोजना पर काम करती है। श्रम सम्बन्धी कार्यों को समुद्रपार क्रियान्वित करने से चाहे वह भारत, चीन और यहाँ तककि अफ्रीका का कम सघन जनसंख्या वाला देश बोत्सवाना हो, उपरी लागत बहुत कम होती है, जिससे यह सेवा लाभदायक हो जाती है |

4.1 बाह्यस्त्रोतन का मुख्य उद्देश्य क्‍या है?

उत्तर :

आउटसोसिंग या ठेका देना एक बाहरी एजेंसी को कार्यकुशलता में सुधार लाने और लागत कम करने के लिए काम देना है।

4.2 एशियाई, पूर्वी यूरोपीय और अफ्रीकी देशों में डेटा प्रसंस्करण करने के लिए मुख्य रूप से कौन से कारक जिम्मेदार हैं?

उत्तर :

अच्छे अंग्रेजी भाषा कौशल वाले आईटी कुशल कर्मचारियों के कारण कम वेतन पर उपलब्ध होना हैं।

4.3 बाहयस्त्रोतन द्वारा किन व्यापारिक क्रियाओं को संपन्‍न किया जाता है? संक्षेप में बताइये।

उत्तर :

  • आउटसोर्स की जाने वाली व्यावसायिक गतिविधियों में।
  • सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी), मानव संसाधन, ग्राहक सहायता और कॉल सेंटर सेवाएं शामिल हैं और कई बार विनिर्माण और अभियांत्रिकी भी।

Section-C / खंड-सी

प्रश्न 5: ‘राइन जलमार्ग विश्व का अत्यधिक प्रयोग में लाया जाने वाला जलमार्ग है। किन्हीं तीन बिन्दुओं द्वारा इस मार्ग के महत्त्व का वर्णन कीजिये।

उत्तर :

  • राइन जर्मनी और नीदरलैंड से होकर बहती है यह जलमार्ग दुनिया का सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला जलमार्ग है।
  • प्रत्येक वर्ष 20,000 से अधिक समुद्र से जाने वाले जहाज और 2,00,000 अंतरराष्ट्रीय जहाज अपने कार्गो का आदान-प्रदान करते हैं।
  • यह स्विट्जरलैंड, जर्मनी, फ्रांस, बेल्जियम और नीदरलैंड के औद्योगिक क्षेत्रों को उत्तरी अटलांटिक समुद्री मार्ग से जोड़ता है।

प्रश्न 6: भौतिक और रासायनिक गुणों के आधार पर खनिजों के प्रकार बताईये। इसके अलावा आज की दुनिया में किन्हीं दो बिन्दुओं द्वारा ऊर्जा के गैर-पारंपरिक स्रोतों की महत्व को स्पष्ट कीजिये।

उत्तर :

रासायनिक और भौतिक गुणों के आधार पर खनिजों को दो मुख्य श्रेणियों के अंतर्गत वर्गीकृत किया जा सकता हैः-

  1. धातु और ( लौह अयस्क )
  2. गैर-धातु ( पेट्रोलियम पदार्थ )

गैर-पारंपरिक स्रोतों का महत्व:-

  • ये स्थायी ऊर्जा संसाधन हैं और नवीकरणीय भी हैं जैसे सौर, पवन, ऊष्मा आदि।
  • यह पृथ्वी पर असीमित मात्रा में है।
  • ये ऊर्जा स्रोत अधिक समान रूप से वितरित और पर्यावरण के अनुकूल हैं।
  • गैर-पारंपरिक ऊर्जा स्रोत अधिक स्थायी हैं।
  • पारंपरिक स्रोतों की तुलना में यह सस्ते संसाधन है।

( या कोई अन्य प्रासंगिक बिंदु )

अथवा

प्रश्न : संसार में हथकरघा उद्योगों की किन्ही तीन विशेषताओं को स्पष्ट कीजिए?

उत्तर :

हथकरघा उद्योग की विशेषताएँ:-

  1. हथकरघा उद्योग में अधिक श्रमिकों की आवश्यकता होती है।
  2. यह अर्धकुशल श्रमिकों को रोजगार प्रदान करता है।
  3. इसमें पूँजी की आवश्यकता कम होती है।
  4. इसके अन्तर्गत सूत की कताई, बुनाई आदि का कार्य किया जाता है।

Section-D / खंड-डी

प्रश्न 7: पर्यटन को परिभाषित कीजिये। पर्यटन को प्रभावित करने वाले किन्हीं चार कारकों की विस्तार से समीक्षा कीजिए।

उत्तर :

पर्यटन को परिभाषित:- पर्यटन व्यवसाय के बजाय मनोरंजन के उद्देश्य से की जाने वाली यात्रा है। यह कुल पंजीकृत नौकरियों (250 मिलियन) और कुल राजस्व (कुल सकल घरेलू उत्पाद का 40 प्रतिशत) में दुनिया की सबसे बड़ी तृतीयक गतिविधि बन गई है।

पर्यटन को प्रभावित करने वाले कारक

जलवायु: ठंडे क्षेत्रों के अधिकांश लोग समुद्र तट की गर्म, धूप वाले मौसम की उम्मीद करते हैं। यह दक्षिणी यूरोप और भूमध्यसागरीय भूमि में पर्यटन के महत्व का एक मुख्य कारण है।

लैंडस्केप: बहुत से लोग अपनी छुट्टियां एक आकर्षक वातावरण में बिताना पसंद करते हैं, जिसका अर्थ अक्सर पहाड़, झीलें, शानदार समुद्री तट और परिदृश्य पूरी तरह से परिवर्तित नहीं होते हैं।

इतिहास और कला: किसी क्षेत्र के इतिहास और कला में संभावित आकर्षण होता है। लोग प्राचीन या सुरम्य कस्बों और पुरातात्विक स्थलों की यात्रा करते हैं।

संस्कृति और अर्थव्यवस्था: ये जातीय और स्थानीय रीति-रिवाजों का अनुभव करने के लिए पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। इसके अलावा, यदि कोई क्षेत्र पर्यटकों की जरूरतों को सस्ते दाम पर प्रदान करता है, तो इसके बहुत लोकप्रिय होने की संभावना है। होम-स्टे एक लाभदायक व्यवसाय के रूप में उभरा है।

प्रश्न 8: गन्दी बस्तियों से आप कया समझते हैं? गन्दी बस्तियों में निवास करने वाले लोग किन समस्याओं का सामना करते हैं? किन्हीं चार समस्याओं का वर्णन कीजिये।

उत्तर:

गन्दी बस्तियों:- मलिन बस्तियां झुग्गी-झोपड़ी समूह और झोंपड़ी संरचनाओं की कॉलोनियां हैं। इनमें वे लोग रहते हैं जो आजीविका की तलाश में ग्रामीण क्षेत्रों से इन शहरी केंद्रों की ओर पलायन करने को मजबूर होते हैं, लेकिन उच्च किराए और भूमि की उच्च लागत के कारण उचित आवास नहीं खरीद सकते थे। वे पर्यावरणीय रूप से असंगत और अवक्रमित क्षेत्रों पर कब्जा कर लेते हैं।

समस्याएं:-

  • जल की आपूर्ति पर्याप्त नहीं होती निवासियों को पेयजल हेतु लम्बी दूरियाँ तय करनी पड़ती है।
  • जल जनित बीमारियाँ, जैसे हैजा, पीलिया आदि सामान्य समस्या साफ एवं स्वच्छ जल की कमी के कारण उत्पन्न होती है।
  • कच्ची सड़के एवं आधुनिक संचार के साधनों का अभाव उनके विकास मार्ग में बाधा डालता है।
  • विशाल जनसंख्या के लिए स्वास्थ्य एवं शिक्षा सम्बन्धी पर्याप्त सुविधाओं का अभाव होता है। ( शौच घर एवं कूड़ा-कचरा निस्तारण )

अथवा

प्रश्न: पनामा नहर ने दक्षिणी अमेरिका की अर्थव्यवस्थाओं के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। स्पष्ट कीजिए।

उत्तर:

  • पनामा नहर उत्तरी एवं दक्षिणी अमेरिका के मध्य 72 कि. मी. लम्बी है।
  • इस नहर के कारण उत्तरी अमेरिका के पूर्व न्यूयार्क एवं पश्चिम स्थित सानफ्रांसिस्को के मध्य जल परिवहन से 13000 कि. मी. की दूरी कम हो गयी है। इसी तरह पश्चिमी यूरोप एवं स. रा. अमेरिका के पश्चिमी तट की दूरी कम हो गयी है।
  • द. अमेरिका के पूर्वी एवं पश्चिमी तटों के मध्य आसानी से परिवहन हो पाता है।
  • यह नहर द. अमेरिका के राष्ट्रों के मध्य व्यापार को बढ़ाने में सहायक रही है।

प्रश्न 9: पहाड़ी क्षेत्र विकास कार्यक्रम की महत्वपूर्ण विशेषताओं को उजागर कीजिये।

उत्तर:

  • पांचवीं पंचवर्षीय योजना के दौरान पहाड़ी क्षेत्र विकास कार्यक्रम शुरू किए गए थे, जिसमें उत्तर प्रदेश के सभी पहाड़ी जिलों (वर्तमान उत्तराखंड), असम के मिकिर हिल और उत्तरी कछार पहाड़ियों, पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले और तमिलनाडु के नीलगिरि जिले के 45 जिलों को शामिल किया गया था।
  • 1981 में पिछड़े क्षेत्र के विकास पर राष्ट्रीय समिति ने सिफारिश की थी कि देश में 600 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले और आदिवासी उप-योजना के अंतर्गत नहीं आने वाले सभी पहाड़ी क्षेत्रों को पिछड़ा पहाड़ी क्षेत्र माना जाए।
  • पहाड़ी क्षेत्रों के विकास के लिए विस्तृत योजनाएँ उनकी स्थलाकृतिक, पारिस्थितिक, सामाजिक और आर्थिक स्थितियों को ध्यान में रखते हुए तैयार की गई थीं।
  • इन कार्यक्रमों का उद्देश्य पहाड़ी क्षेत्रों के स्वदेशी संसाधनों का दोहन करना है।
  • इन क्षेत्रों को विकसित करने के लिए बागवानी, वृक्षारोपण, कृषि, पशुपालन, वानिकी और लघु और ग्रामोद्योग के विकास को बढ़ावा दिया जाना है।

Section-E / खंड-ई

प्रश्न 10: दिए गये भारत के मानचित्र पर निम्लिखित को दर्शाइए

( कोई पांच दर्शाइए )

1) राजस्थान में स्थित तांबे की खान।

उत्तर: खेतड़ी

2) भारत का सबसे कम जनसंख्या घनत्व के स्तर वाला राज्य।

उत्तर: अरुणाचल प्रदेश

3) कर्नाटक में स्थित करोड़ से अधिक जनसंख्या वाला नगर।

उत्तर: बेंगलुरु

4) झारखंड राज्य में स्थित कोयले की खान।

उत्तर: बोकारो

5) उत्तर दक्षिण गलियारे का उत्तरतम केंद्र।

उत्तर: श्रीनगर

6) गुजरात में स्थित तेलशोधन शाला

उत्तरः जामनगर

🗺️ The map link is here, don’t worry there’s no hidden ads.

Download the Geography Sample Paper

आपको इसके पीडीएफ को देखने के लिए या डाउनलोड के लिए नीचे दिए बटन जिस पर Geography set-1 लिखा है उस पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपको 15 सेकण्ड्स तक इंतेज़ार करना होगा और जैसे ही टाइमर पूरा होगा तभी आपके सामने हरा बटन प्रकट होगा जिस पर Now you can download set-1 लिखा होगा, जिसे दबाते ही आपके सामने google drive का एक पेज खुल जाएगा जहां आपको वह पीडीएफ मिल जाएगी।

मुमकिन हैं कि आपको गूगल ड्राइव में जाने के लिए कोई ई-मेल एकाउंट से लोग इन करना पड़े लेकिन अगर आप अपने ई-मेल एकाउंट से लोग इन नहीं करना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट को इंकॉग्निटो टैब में खोल सकते हैं तब आपको किसी भी ई-मेल एकाउंट से लोग इन नहीं करना पड़ेगा।

Geography set-1

Thank you 😍

बहुत बहुत शुक्रिया मेरे इस पोस्ट को पढ़ने के लिए 🙏
और आपसे एक बिनती है कि आप मेरे इस पोस्ट हो सके तो share करें और comment box में अपनी राय लिखे इस पोस्ट के बारे में। जिससे कि इस पोस्ट की reach बढ़े।
Have a nice day 😘

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *